element menu in pagemaker in hindi


हेलो दोस्तों। 

आज के टॉपिक में हम बात करेंगे कि pagemaker के अंतर्गत element menu क्या होता हैं। 


Element menu

Element menu में बहुत सी कमांड या आदेश होते है चलो समझते है-

1. Fill - इस कमांड के द्वारा हम जब कोई बॉक्स या गोल आकार का कुछ डिज़ाइन करते है उसको भरा जाता है। और इतना ही नही बल्कि इसके अतिरिक्त इस कमांड के द्वारा बहुत प्रकार की lines को भरने के भी विकल्प होते है जिसके द्वारा हम बेहतरीन दिखने वाली लाइन डिज़ाइन कर सकते है। 


element menu in pagemaker in hindi
element menu in pagemaker in hindi




2. Stroke - इस कमांड के द्वारा बनाये गए लाइन के आकार को चुना जाता है। इसमें अनेक प्रकार के लाइन्स के आकार होते है जिन्हें बनाया गया है, जिसे काम मे लाया जा सकता है। इसे reverse स्वरूप में  बनाने का विकल्प भी आप पा सकते है। 


3. Fill and stroke - यह कमांड ऊपर वाले दोनों कमांडो का मिश्रण होता है। ऊपर के दोनों कमांड को अलग अलग आदेश देने के बजाय इस कमांड को ही संयुक्त रूप से एक साथ काम मे लाया जा सकता है। 




4. Frame - इसमें frame के बहुत से विकल्प होते है।


5. Arrange - यह कमांड ग्राफ़िक को आगे या पीछे की और ले जाने का काम करती है। इसे जरूरत के अनुसार हम प्रयोग में ला सकते है।


6. Align objects - यह दूसरा रुचिकर कमांड है जो पिछले रूपांतरण में नही था। इस कमांड के द्वारा text ओर ग्राफ़िक को विभिन्न स्थानों पर ऊपर नीचे बीच मे तथा दाएं और बाएं जहाँ ब मन करे कर सकते है। मतलब की जैसे कोई टेक्स्ट लिखते है तो इसके अनुसार टेक्स्ट को दाई या बाई और से शुरू भी कर सकते है। 


7. Text warp - यह अनेक प्रकार के text warp के विकल्प प्रदान करता है। जिसमे से कोई भी अपने texts के लिए आप चुन सकते है। 



8. Group - यह कमांड बहुत से ग्राफ़िक software के पेज पर प्राप्य है इस आदेश के इस्तेमाल द्वारा आप पेज पर उपलब्ध आइटम्स3 का एक group बना सकते है। यह एक बॉक्स में सब सामग्री को एकत्रित कर लेता है। सीधे शब्दों में बताऊ तो जैसे हम कुछ टेक्स्ट लिखते है या पैम्फलेट बनाते है तो उसमें बहुत से text होते है और हमको वह file save करनी होती है तो उसको safe रखने के लिए पहले हम उस पूरे डिज़ाइन को ग्रुप कर लेते है। और फिर सेव कर लेते है इससे यह फायदा होता है कि जब हम वह फ़ाइल दोबारा खोलते है तो वह फ़ाइल में कुछ भी अक्षर हिला डुला नही दिखता सब एक साथ एकत्रित ही दिखते है। इसलिए इसका बड़ा फायदा होता है। 


9. Ungroup - इस कमांड के द्वारा हम सभी टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट को ungroup कर सकते है इसका प्रयोग तब किया जाता है जब मानलो हम कोई डिज़ाइन बनाके उसको ग्रुप करके सेव करते है और उसके बाद हमको उस design में कुछ change करना होता है तो हम सबसे पहले उस पूरे डिज़ाइन को ungroup करते है तभी उस डिज़ाइन में changement करना सम्भव हो पाता है। इसलिए इसका भी उतना ही महत्व है जितना कि group कमांड का। 


10. Lock position - जब इस कमांड का प्रयोग कुछ ग्राफ़िक्स के लिए किया जाता है। तो ग्राफ़िक, पेज पर लॉक हो जाता है। उस डिज़ाइन को कही खिसकाया नही जा सकता । ज्यादातर इस कमांड का प्रयोग तब  होता है जब हम किसी डिज़ाइन को scan करके same उसके जैसा बनाते है तो हम उस डिज़ाइन को स्कैन करके pagemaker फ़ाइल में लाते है और इस कमांड द्वारा उस डिज़ाइन को lock कर देते है और फिर उसके ऊपर same वैसा डिज़ाइन बनाते है। तब इसका प्रयोग किया जाता है। 


11. Unlock - lock हुए डिज़ाइन को unlock करने के लिए इस कमांड का प्रयोग किया जाता है। 


12. Mask - इस कमांड के द्वारा हम text को graphic के भीतर देख सकते है। 


13. Unmask - मास्क कमांड के प्रभाव को खत्म करने के लिए unmask कमांड का प्रयोग किया जाता है। 


14. Image - इस कमांड के द्वारा image को साफ चमकीला किया जा सकता है। साथ ही इमेज, contrast, image के screen angle में बदलाव और image के स्क्रीन के पैटर्न को दिखाता है।


15. Polygon setting - इस कमांड के द्वारा polygon में अनेक भुजाओं की setting सेटिंग एक साथ कर सकते है। 


16. Rounded corners - इस कमांड के द्वारा बॉक्स बनाने के बाद उस बॉक्स के कोने को घुमाया जा सकता है। 


17. Link info - इस कमांड का प्रयोग प्रकाशन में चुने गए linked objects से पब्लिकेशन सलेक्ट किया जाता है। 


18. Link options - इस कमांड के द्वारा text या graphic के updated तथा पब्लिकेशन के frequency के बारे में जानकारी हासिल करते हैं। 


19. Non printing - इस कमांड के द्वारा page के जिस भाग को चुनते है उसकी प्रिंटिंग में अवरोध हो जाता है, जिससे कि वे अन्य प्रिंट होने वाले पेज के contents के साथ प्रिंट न हो।
 

20. Remove transformation - इस कमांड के प्रयोग के द्वारा चुने हुए text अथवा graphics में इस्तेमाल किये गए स्थानांतरण को हटा सकते हैं। 

Post a Comment